तब हमहूं खेती करत रहेन …..

"अवधी कविता " जब आलू घुइया लहसुन अव पियाज से कोठरी भरत रहेन है आजिव हमका याद भय तब हमहूं खेती करत रहेन , कोहड़ा लउंकी सेम तरोई घर घर छपरप फरत रहा झखरक लिहे सहारा…

Avatar Kapilvastu times

२ हप्ता अगाडि

“मनई मनई” अवधी कविता

" अवधीकविता " ( मनई मनई) हर चुप्पी मा मारि चौकड़ीसोर बयिठा हैमनई मनई के जिव मा भैयवाचोर बयिठा है ,बच पावौ तव बच लियवसोझवा के वार सेआज भेंडहा रुप बदलेमोर बयिठा है ,नेर से बोलत…

Avatar Kapilvastu times

३ हप्ता अगाडि

शहरिन से पुरवा बही ..

"अवधी दाेहा " शहरिन से पुरवा बहीपहुंची हमरे गांवबिसरे राम जोहार अबटोकैं लय लय नाव , शीतलता जल से गयीबानिस् गयी मिठासकुंवक् जगति से गयि उजरिपुजनी दुबिया घास, कौआ उड़ा बंडेर सेअबहीं लउटा नायहोइगा सौदा प्रेम…

Avatar Kapilvastu times

३ हप्ता अगाडि

बाप दादा किहिन कमाई

  -अजय पाण्डेय बाप दादा किहिन कमाई बेटवा धैकय ओहिका उडाइ जमिन्दारकय बेटवा होइ बिना बियर निंद नआई मस्त जिन्दगी ओतना सारा खेत पडा वोका बैठकै बेचा जाई हरेक महिना मोटरसैकिल बदलाई पिछे सुन्नर लड्की बैठाई…

Avatar Kapilvastu times

२ वर्ष अगाडि

धूर्तों का जमघट, जिंदों का मरघट,

रास नहीं आई ... °°°°°°°°°°°°° बात की बात पे, कह दूँ, छुपाना क्या है ? ये जो सियासत है न ! दो कौड़ी की; रास नहीं आई। धूर्तों का जमघट, जिंदों का मरघट, झूठी सी मुस्कुराट,…

Avatar Subodh Regmi

४ वर्ष अगाडि

कपिलवस्तुमा धर्मको नाममा सर्वाजनिक जग्गा कब्जा गर्ने क्रम बढ्दै .

[caption id="attachment_224" align="alignnone" width="432"] saniulla[/caption] सनिउल्ला धोबी, कपिलवस्तु असोज ३० कपिलवस्तुको शिवराज नगरपालिको विभिन्न स्थानमा धर्मको नामका करोडौको सर्वाजनिक जग्गा कब्जा गरिएको छ । धर्मको नाममा शिवराज नगरपालिकाको केहि जंगल,आठ नंम्बर र अ‍ैलानी जग्गा कब्जा गरी धर्मिक…

Avatar Kapilvastu times

४ वर्ष अगाडि

कपिलबस्तु सीमा पर हाइ अलर्ट ।।

कपिलवस्तु । पाक अधिकृत कश्मीर में भारतीय सेना की ओर आतंकी ठिकानों पर हमला कर 40 से अधिक आतंकियों को मार गिराने के बाद पाक के तल्ख रवैया और सोमवार की सुबह पाक की तरफ से…

Avatar Subodh Regmi

४ वर्ष अगाडि