११ फाल्गुन २०८०, शुक्रबार

मधेशीयाेंका विश्वास गवां चुकी है खसबादी पार्टीयां :महन्त ठाकुर


dsc00185अंकुश श्रीवास्तव
(कृष्णनगर) कपिलबस्तु, पौष ५ । तराई मधेश लाेकतान्त्रीक पार्टी के राष्ट्राध्यक्ष महन्त ठाकुर ने  तराई मधेश जनजागरण अभियान कार्यक्रम मे कहा कि नेपालकी खसबादी पार्टीयाें ने अपनी विश्वासनियता मधेश अाैर मधेशीयाें से गवां दी है ।
              कार्यकर्ता प्रशिक्षण एवं जनजागरण कार्यक्रमके सिलसिले मे कपिलबस्तु के सिसवा मे अाये तमलाेपा अध्यक्ष ने यह भी कहा कि यदि नेपाल सरकार मधेश के मागकाे नये संविधान मे सम्बाेधन नही किया ताे अब मधेश अान्दाेलन अारपारका हाेगा ।कैलाली कंचनपुर अाैर सुनसरी ,सप्तरी, झापा लेकर मधेश प्रदेश नही मिला ताे अलग देशकी अावाज उठेगी जिसका जिम्मा नेपाल सरकार अाैर पहाडी खसबादी पार्टीयाेंकाे लेना हाेगा । नेपाल मे नेपाली राष्ट्रीयता नेपाली खस के लिए है यहाँ मधेशी, थारु, जनजाती अाैर मुस्लिम भी है जिनका भाषा , संस्कृति एवं रंग अलग अलग है । उन्हाेने यह भी कहाँ कि मधेश मे रहने वाला मधेशी है चाहे वह हिन्दु हाे व मुस्लिम । dsc00159कार्यक्रम मे राज्यमंत्री रह चुके तमलाेपा के केन्द्रीय सदस्य इश्वर दयाल मिश्र ने उपस्थित मधेशी जनसमुदायकाे अागह किया कि यदी मधेश प्रदेश नही मिला ताे भयानक अान्दाेलन के लिये तैयार रहियेगा । उन्हाेने बताया अगरमधेश प्रदेश हाेता है ताे मधेशी ,थारु, मुस्लिमकाे उच्च स्थान लेने मे काेई रुकावटें नही अायेगी । मधेश का हर मधेशी स्वतन्त्रता से अपनी जीवन व्यतीत करे इसी के लिए मधेशी जनता अान्दाेलित है ।
इसीतरह कपिलबस्तु के मधेशी युवा नेता अजित सिहं ने मधेशी युवाअाेंकाे अपने स्वतन्त्रता एवं राेजगार के लिए संगठित हाेकर अान्दाेलन मे सहभागी हाेने अाैर संविधान संशाेधन कि प्रक्रियाकाे अागे बढाने के लिए सरकार दबाव देने पर जाेर किया । कार्यक्रम मे पुर्व कृषिमंत्री इकबाल अहमद शाह, राहुल सिहं,मंगल प्रसाद गुप्त, राम कुमार गुप्त, हरिवंशनाथ शुक्ल, रामअचल तिवारी, श्यामसुन्दर चाैधरी लगायत के मधेशी नेताअाें कि उपस्थिति थी ।

धेरै कमेन्ट गरिएका

ताजा उपडेट