८ असार २०८१, शुक्रबार

हमसे हर बतकही करो…….


हमसे हर बतकही करो
चाय पिययो समोसा खियावो
जहाँ मन लगाय लैजावो
अव करो हमसे हर बतकही करो

कवनो जात न धर्म हमार
जो पैसा देव् तो तोहार
वोट कहोय लोट देव
अव जेका कहबो चोट देव
बास मोमो खियावो अव दारू पियाव
करो,
हमसे हर बतकही करो।

गवाह बनावो,
चाहे नारा लगवाओ
जइसन मर्जी काम करावो
जेब में 4 ठु कलाम है
मन करय तो अंगूठा लगवाओ
बस भूख लगाय तो मास मछरी खियावो
अरे करो,
हमसे हर बतकही करो।

काम धाम न कवनो है, जीप पे बैठाओ और घुमाओ
आगे पीछे नरोवाय वाला , चमचा होइ चमचागिरी करावो ।
नलजावो बैठो करो,
हमसे हर बतकही करो।

  • अजय पाण्डेय

धेरै कमेन्ट गरिएका

ताजा उपडेट